रिश्तों में 3 बड़ी गलतियां- Rishto Mein 3 Badi Galtiya

रिश्तों में 3 बड़ी गलतियां - Rishto Mein 3 Badi Galtiya

एक परफेक्ट रिश्ते के लिए कोई जादुई मंत्र या फॉर्मूला नहीं होता। ये सच्चे रिश्ते की बुनियाद अलग अलग कारकों (factors) पर आधारित हैं। और यहां कोई भाग्य (luck) काम नही करता। और रिश्ता निभाना कोई आसान काम भी नही है अगर कोई कहता है की यह आसान है तो या को व्यक्ति जूठ कहता है या फिर भ्रम में है।

जबकि कुछ कारक ऐसे भी है जो आपके रिश्ते को तेजी से खत्म करने की क्षमता रखते हैं , और आज हम COUPLE THINKING की इस पोस्ट में इन्ही 3 कारकों से आधारित तथ्य पर चर्चा करेंगे।

1 – संपर्क में कमी -Loss of Communication

आपने अधिकतर यह जरूर सुना होगा कि किसी भी स्वस्थ रिश्ते की नीव संचार पर आधारित है, आपस में बात करना रिश्ते को मजबूत बनाता है क्योंकि इससे एक दूसरे के विचारो और ख्यालों को जानने का अवसर मिलता है। और संचार की भूमिका रिश्ते में तो बॉयज अधिक महत्व रखती है।

और अगर कभी आपको लगे कि आपके रिश्ते में संचार बिलकुल ही खतम हो गया है तो समझ लीजिए कि आपके रिश्ते में बहुत सी दुविधाएं उत्पन्न होने लगेंगी।

जब हम किसी रिश्ते में होते हैं तो हमे ये समझना चाहिए कि अगर हम साथ रहते हुए भी एक दूसरे के लिए वो पर्याप्त प्रयास (efforts) नही कर रहें हैं तो हमारा रिश्ते में होना या ना होना कोई मायने नहीं रखता। क्योंकि हमें ये समझना चाहिए कि रिश्ता निभाना मतलब सिर्फ साथ रहना नही होता बल्कि एक दूसरे को समझना और उसके लिए दोनो के बीच संचार होना बहुत आवश्यक है।

People photo created by lookstudio - www.freepik.com

एक और चीज जो जोड़ियों के बीच पाई गई है वो है गुस्सा प्रदर्शित करने के लिए चुप रहना। जिसे silent treatment के नाम से भी जाना जाता है। आपके पार्टनर के साथ यदि आपका कोई झगड़ा या बहस हो जाती है तो आप उसके साथ बात नही करना चाहते।

 

वो झगड़े को कम करने के लिए बिल्कुल ठीक है , लेकिन आप अगर अपने झगड़े को बिना सुलझाए ही आगे बढ़ जाते हैं और इससे जुड़ी समस्याओं को नही सुलझाते तो ये आपके रिश्ते को खतम करने के लिए काफी होगी।

2- रिश्ते में प्रतियोगिता - Competition in Relationship

जैसा की आज का दौर प्रतिस्पर्धा का दौर है। हमे अपने जीवन में बहुत सी प्रतिस्पर्धाओं को पार करना पड़ता है किंतु जब बात रिश्ते की आती है तो आपको अपनी सारी प्रतिस्पर्धा भूलकर आगे बढ़ जाना चाहिए क्योंकि रिश्ते में अगर आप प्रतिस्पर्धा करते हैं तो वो आपके रिश्ते को कमजोर बना देगी जिससे वो संभव ही टूट जाएगा।

खुदसे कुछ सवाल पूछे ??

  • क्या आप अपने साथी के  साथ जश्न मना सकते हैं जब वे कुछ जीतते हैं? खासकर अगर यह आपके खिलाफ है?
  • क्या आप अपने साथी को सफल होने के लिए प्रोत्साहित करते हैं?
  • क्या आपके साथी की सफलता आपको गुस्सा दिलाती है?
  • क्या आप एक लक्ष्य प्राप्त करने के लिए एक साथ काम कर सकते हैं?
  • क्या आप अपनी सफलता को अपने साथी के साथ साझा करने के लिए उत्साहित महसूस करते हैं या क्या इससे आपको घबराहट महसूस होती है?

वास्तव में, आप इन सभी प्रश्नों के उत्तर खुद्से ही तलाश कर सकते है क्योंकि आपके साथी को आपसे ज्यादा अच्छा और कोई नही समझ सकता। और इन सबके बाद आप अपने सभी जवाबों से सहमत हैं या नही इस पे भी गौर करें। 

अगर आप अपने जवाबों से सहमत नही होते तो समझ लीजिए की आपके रिश्ते में कुछ तो समस्याएं जरूर हैं। जिनकी तरफ आपको ध्यान देना आवश्यक है।

3 – अपने आप को पहले ना रखें - Don't put yourself first

वास्तव में, आप इन सभी प्रश्नों के उत्तर खुद्से ही तलाश कर सकते है क्योंकि आपके साथी को आपसे ज्यादा अच्छा और कोई नही समझ सकता। और इन सबके बाद आप अपने सभी जवाबों से सहमत हैं या नही इस पे भी गौर करें। 

अगर आप अपने जवाबों से सहमत नही होते तो समझ लीजिए की आपके रिश्ते में कुछ तो समस्याएं जरूर हैं। जिनकी तरफ आपको ध्यान देना आवश्यक है।

इसका मतलब 100 प्रतिशत आपका साथी खुडसे ऊपर आपको रखता है और आपकी जरूरतों का ध्यान आपसे पहले रखता है , जिसका मतलब यह है की आपको भी उसे खुदसे पहले रखना चाहिए ।

एक रिश्ते के बारे में सबसे भयानक चीजों में से एक यह है कि आपको हमेशा खुद को पहले रखने की आवश्यकता महसूस नहीं करनी चाहिए क्योंकि कोई और आपको आपकी आवश्यकता के बिना पहले डालता है। जैसा आप उनके लिए करेंगे।

ये आपके रिश्ते को एक संतुलन प्रदान करता है और रिश्ते को मजबूत बनाने में भी सहायक होता है।

हम हमेशा उन चीजों के बारे में सुनते हैं जो एक रिश्ते को अच्छा बनाती हैं, लेकिन उन चीजों के बारे में क्या है जो एक रिश्ते को खत्म करती हैं, उन चीजों के बारे में जो अच्छी नहीं हैं?

यदि आप अपने आप को एक ऐसे रिश्ते में पाते हैं जहाँ आपको लगता है कि ये मुद्दे कुछ गंभीर नुकसान पहुँचाने लगे हैं तो आपको चीजों को बदलने के लिए कुछ बड़े प्रयास करने की आवश्यकता है। और एक व्यक्ति अकेले इसे ‘ठीक’ नहीं कर सकता है।

आप मिलकर इन मुद्दों से निपट सकते हैं या फिर किसी बाहरी मदद द्वारा भी इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

1 thought on “रिश्तों में 3 बड़ी गलतियां- Rishto Mein 3 Badi Galtiya”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *